rasmalai

रसमलाई-Rasmalai-घर में बनाये रेस्टोरेंट की तरह रसमलाई 

घर में बनाये रेस्टोरेंट की तरह रसमलाई

रसमलाई बंगाल की एक मिठाई है  जो गाय के दूध को फाड़कर छैना बनाकर उसके छोटे-छोटे पेड़े बनाये जाते है और उसे फिर भैंस के दूध  के रबड़ी (मलाई)  में डुबाया जाता है। चूँकि रबड़ी बनाने में केशर का उपयोग किया जाता है इसलिए रसमलाई  का रंग क्रीम या पीलापन लिया हुआ होता है तथा साथ ही साथ इसमें सूखे मेवे जैसे काजू, बादाम और पिस्ता को बारीक़ काटकर डाला जाता है। जिससे यह बहुत ज्यादा टेस्टी हो जाता है। तो चलिए  इसे बनाना शुरु करते है।

मुख्य सामग्री                      :  गाय का दूध, भैंस का दूध

क्यूज़ीन                            : बंगाल

कोर्स                                :   मिठाई

तैयारी का समय                   :   20-25 मिनट

खाना पकाने का समय            :   20-25 मिनट

सर्विस                              :     06

खाना पकाने का स्तर             :   मध्यम

स्वाद                              :   नरम

रसमलाई बनाने के लिए हम गाय के दूध और भैंस के दूध को अलग-अलग बर्तन में पकायेंगे।  एक तरफ गाय के दूध से हम रसमलाई बनाने के लिए पेड़े (टिक्की) तैयार करने हेतु छैना बनायेंगे तो दूसरी तरफ भैंस के दूध को रसमलाई के लिए मसाला दूध तैयार करेंगे। तो चलिए  इसे बनाना शुरु करते है।  

रसमलाई बनाने के लिए आवश्यक सामग्री:-

rasmalai

  • गाय का दूध 01 लीटर
  • भैंस  का दूध 01 लीटर
  • नींबू का रस एक टेबल स्पून अथवा सफ़ेद सिरका दो टेबल स्पून
  • चीनी 02  कप (चाशनी बनाने के लिए)
  • चीनी 01   कप (रबड़ी में डालने के लिए )
  • काजू 05  -06  नग
  • पिस्ता  10 -12 नग
  • बादाम 05  -06  नग
  • छोटी इलायची 5 (पाउडर बना ले )
  • केसर 6-7 पत्तिया (यदि आप चाहो )
  • दूध पाउडर 01  टेबल स्पून

रसमलाई बनाने के लिए मसाला दूध बनाने की विधि:-

  1. मसाला दूध (रबडी ) बनाने के लिए दूध को धीमी आंच में पकाकर आधा करना होता है। आधे से मतलब है की एक किलो दूध को पका कर उसे आधा किलो करना।
  2. मसाला दूध तैयार करने के लिए भैंस के एक लीटर दूध को माध्यम  आंच में पकाएंगे।
  3.  एक बार उसमे उबाल आ जाने के बाद हम उसमे केसर के 6-7 पत्तिया  और आधा कप चीनी डालकर आंच को धीमा करके उसे पकायेंगे।
  4. बीच -बीच में चम्मच के सहायता से मलाई को बर्तन के किनारे लगाते जाना है।
  5. इस तरह दूध को आधे बचने लगभग 500 ग्राम बचने तक उसे पकाना है।
  6. हमारे  रसमलाई के लिए मसाला दूध तैयार है इसमें हम काजू, बादाम और पिस्ते को पतले-पतले क़तर कर डालकर गैस बंद कर देंगे

रसमलाई बनाने के लिए छेना बनाने की विधि:-Rasmalai

 

  1. एक लीटर गाय का दूध लीजिये। उसे उबाल आने तक गरम कर दीजिये। फिर दूध के  थोड़ा ठंडा (80 प्रतिशत ) गरम होने पर हम उसमे नींबू या फिर सिरका की मदद से छेना बनाएँगे।
  2. इस छैने को कोई मलमल के कपडे या फिर पतला सूती कपडे में छानकर उसे उसी कपडे में  बांधकर लगभग एक घंटे के लिए उसके ऊपर भरी सामान जैसे कोई चौकी या फिर लोढ़ा से दबाकर रख दीजिये। ताकि अतिरिक़्त पानी निकल जाए और छैना तैयार हो जाए।

रसमलाई बनाने  के लिए पेड़ा (टिक्की) बनाने की विधि:-

  1. छैना तैयार होने के बाद उसमें एक टेबल स्पून मिल्क पाउडरमिलाकर  उसे  हाथों  से  मसल-मसल कर नरम रोटी के आटे की तरह  डो तैयार कर लीजिये।
  2. इस आटे (डो ) को बारह से चौदह भाग करके हाथों  से पेड़े तैयार कर ले।

रसमलाई बनाने  के लिए पेड़ा (टिक्की) को चासनी (शक्कर पानी) में पकाने की  विधि :-

  1. दो कप चीनी और आधा कप पानी डालकर इसे पकाइये। जब पानी में चीनी घुल जाए तो आप उसमे आप उन पेड़ो (टिक्कियों) को डालकर मध्यम आंच में लगभग 15 मिनट के लिए पकाइये।
  2. 15 मिनट बाद हमारी  रसमलाई की टिक्किया पककर तैयार हो चुकी है इन टिक्कियों को हम मसाला दूध में डाल देंगे।
  3. हमारी रसमलाई तैयार है।

5 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *